हिलेरी क्लिंटन की जीवनी | Hillary Clinton Biography In Hindi

Hillary Clinton

नाम – हिलैरी डियान रोधम क्लिंटन (Hillary Clinton)
जन्म – 26 अक्टूबर 1947
राष्ट्रीयता – अमेरिकन
उपलब्धि – अमेरिका के भावी प्रेसीडेंट, अमेरिका के 42वे राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की पत्नी हैं,

हिलेरी क्लिंटन परिचय – Hillary Clinton Biography In Hindi : –


हिलेरी क्लिंटन अमेरिका (America) के 42वे राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की पत्नी हैं और सन् 1993 से 2001 तक अमेरिका की प्रथम महिला रहीं। अमेरिकी पॉलिटिशियन और यूनाइटेड स्टेट के 2016 के चुनाव की डेमोक्रेटिक पार्टी के अध्यक्ष की अनुमानित नामांकित महिला है। किसी भी मुख्य अमेरिकन राजनितिक पार्टी में यह पद पाने वाली वह पहली महिला है। 2001 से 2009 तक जूनियर यूनाइटेड स्टेट सीनेटर में न्यू यॉर्क का प्रतिनिधित्व किया, और 2009 से 2013 तक उन्होंने 67 वे यूनाइटेड स्टेट के सेक्रेटरी के पद पर रहते हुए सेवा की, वे अमेरिका के भावी प्रेसीडेंट (President) के तौर पे जानी जाती। अब आने वाला समय ही बताएगा की हिलेरी क्लिंटन अमेरिका का प्रेसीडेंट बन पाती है या नही।

पृष्टभूमि – Early Life :-

हिलेरी क्लिंटन का पूरा नाम हिलेरी डीयने रोडम क्लिंटन (Hillary Diane Rodham Clinton) हैं का जन्म 26 अक्टूबर 1947 को इलेनॉइस के शिकागो के एजवॉटर हॉस्पिटल में हुआ। शिकागो के यूनाइटेड मेथोडिस्ट परिवार में इनका बचपन बिता और फिर 3 साल की उम्र से इलेनॉइस के सबअर्बन पार्क रिज में रहने लगी। उनके पिता ह्यूज एल्सवर्थ रोधम वेल्श में रहते थे और इंग्लिश वंशज थे और साथ ही टेक्सटाइल इंडस्ट्री का छोटा व्यवसाय भी करते थे। उनकी माता डोरोथी एम्मा हॉवेल इंग्लिश गृहिणी थी और स्कोटिश, फ्रेंच और वेल्श में रहते थे। हिलेरी के दो छोटे भाई ह्यूग जूनियर और टोनी भी है।

उन्होंने वेल्सले कॉलेज और याले लॉ स्कूल से शिक्षा ग्रहण की और वही उनकी मुलाकात अपने पति बिल से हुई। लॉ डिग्री पूरी करने के बाद याले चाइल्ड स्टडी सेंटर में वे पोस्टग्रेजुएट क्लास की। कांग्रेशनल लीगल कॉउंसिल में सेवा करने के बाद वह अर्कान्सस गयी और 1975 में बिल क्लिंटन से शादी कर ली। बिल ने हिलेरी के प्रपोज करने से पहले ही एक घर खरीद लिया था ताकि हिलेरी को तौफा दे सके। हिलेरी भी बिल से बहुत प्यार करती थी। इसलिए बिल के कहते ही शादी कर ली। 27 फ़रवरी 1980 मे इनके यहा बेटी चेल्सी विक्टोरिया ने जन्म लिया।

राजनितिक कॅरियर  :-

राजनितिक परिवार से जुडी होने की वजह से बचपन से ही राजनीती में उनकी बहुत रूचि थी। एक बार उन्होने रेडरेंड मार्टिन लूथर किंग जूनियर के शिकागो मे भाषण सुना। इससे उनके जीवन मे बहुत प्रभाव डाला। 13 साल की उम्र में ही 1960 के यूनाइटेड स्टेट प्रेसिंडेन्टिअल इलेक्शन में उन्होंने रिपब्लिकन सदस्य रिचर्ड निक्सन के खिलाफ फ्रॉड का साबुत ढूंडा। बाद में वह 1964 में यूनाइटेड स्टेट प्रेसिडेंशियल इलेक्शन में कैंडिडेट बैरी गोल्डवॉटर के अभियान की वॉलंटियर बनी। हाई स्कूल के समय से ही उनके राजनितिक करियर की शुरुवात हो चुकी थी।

हिलेरी ने एक कॉलेज की छात्रा के रूप मे कई जॉब किए। 1971 मे पहली बार प्रवासी मजदूरो पर अमेरिकी सीनेटर वल्टेर मॉनडेल के उप-समिति पर कम करने के लिए वाशिंगटन डीसी गई। 1972 मे इन्होने डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रेसीडेंटपद के उम्मीदवार जॉर्ज मेक्गवर्न के अभियान के लिए पश्चिम राज्यो मे काम किया। 1978 में लीगल सर्विस कारपोरेशन में चेयर के पद पर नियुक्त की जानी वाली वह पहली महिला बनी और उसी साल रॉस लॉ फर्म की पहली महिला सहयोगी (पार्टनर) बनी। अर्कान्सस (1979-81, 1983-92) की पहली महिला होते हुए उन्होंने कई काम किये जिसमे मुख्य रूप से अर्कान्सस पब्लिक स्कूल को पुनः स्थापित करना और बोर्ड ऑफ़ कारपोरेशन में काम करना भी शामिल है।

1992 मे बिल क्लिंटन के प्रेसीडेंट पद के उम्मीदवारी मे उन्होने बहुत साथ दिया। बिल क्लिंटन ने प्रेसीडेंट के रूप मे 1993 मे हिलेरी को नेशनल हेल्थ रिफ़ॉर्म का मुखिया बनाने के लिए नाम दिया। इस अवधि के दौरान हिलेरी और बिल ने वाइटवॉटर अचल संपाति परियोजना मे निवेश किया जो की 73,000,000 की लागत से असफल रहा।

1998 मे वाइटहाउस पर कई संगीन आरोप लगे. उनके पति क्लिंटन देश-विदेश के सुर्ख़ियो मे छाए रहे। उन पर मोनिका लेविन्स्की सेक्स स्कैंडल का आरोप था। पर ऐसे गंभीर समय मे हिलेरी ने अपने पति का बखूबी साथ दिया। कहा जाता हिलेरी उस टाइम तलाक़ लेने का मन बना चुकी थी फिर भी बुरा समय मे अपने पति को बाहर निकाला।

क्लिंटन 2000 में न्यू यॉर्क से पहली महिला सीनेटर नियुक्त की गयी और कोई भी मुख्य ऑफिस सँभालने वाली वह पहली महिला है। इराक रेसोलुशन के लिए भी उन्हें वोट दिए गए थे। लेकिन वह कभी यूनाइटेड स्टेट छोड़कर नही गयी। 2001 और 2003 के टैक्स कट के खिलाफ भी उन्हें मतदान किया गया था।

2006 के सीनेट में उन्हें पुनर्नियुक्त किया गया। 2008 में वह प्रेसिडेंट की दौड़ में भी शामिल थी और पिछले महिला कैंडिडेट की तुलना में उन्हें ज्यादा प्रतिसाद मिलने लगा लेकिन यह स्पष्ट हो गया की बहुमत बराक ओबामा के हिस्से मे आ रही हैं अंत: वे पीछे हट गई।

बराक ओबामा प्रेसीडेंट बनने के बाद हिलेरी को सेक्रेटरी मे नियुक्त किया जिसके लिए इन्होने 21 जनवरी 2009 मे शपथ ली, इस पद मे उन्होने बहुत अच्छे काम किए जिसके लिए उन्हे काफ़ी तारीफ मिली।

हिलेरी की लीडरशिप मे 11 सितंबर 2012 को बघंजी लीबिया ने अमेरिका के राजदूत क्रिस्टोफर स्टीवंस और तीन अन्य लोगो को मार डाला,  इस मामले मे जाँच की गयी और कमजोर लीडरशिप को ज़िम्मेदार ठहराया गया। इस आरोप के कारण हिलेरी ने 1 2013 को इस्तीफ़ा दे दिया।

प्रेसीडेंट पद की उम्मीदवारी :-

कई आरोपो को झेलते हुए हिलेरी स्वंय को आरोपो से बरी करवाई और 12 अप्रेल 2015 मे अपने आप को 2016 के प्रेसीडेंट इलेक्शन की दौड़ मे शामिल किया। हिलेरी क्लिंटन ने अमेरिका के राष्ट्रपति पद के चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवारी जीतकर इतिहास रचा। यह अमेरिका के राष्ट्रपति पद के चुनाव में किसी बड़ी पार्टी का नेतृत्व करने वाली पहली महिला बन गई। विदेश मंत्री, प्रथम महिला एवं न्यूयार्क से सीनेटर रह चुकी हिलेरी ने फिलाडेल्फिया में डेमोक्रेटिक नेशनल कन्वेंशन में पार्टी के कुल 4764 डेलीगेटस में से बहुमत का समर्थन हासिल करके उम्मीदवारी जीती। ऐसे तो हिलेरी का लीडरशिप लाजवाब हैं अब देखना ये है की आगे क्या होता, अगर हिलेरी अमेरिका की प्रेसीडेंट बनती है तो ये पहली महिला होगा जो अमेरिका इतिहास मे ऐसा कर रही है।

Also Read More  –

Please Note : – Hillary Clinton Biography & Life History In Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे करे. Hillary Clinton Short Biography & Life story In Hindi व नयी पोस्ट डाइरेक्ट ईमेल मे पाने के लिए Free Email Subscribe करे, धन्यवाद।

loading...

LEAVE A REPLY