बुखार ठीक करने के घरेलू उपचार – Bukhar(Typhoid) Ka Ilaj Kaise Kare

Bukhar Ka Ilaj Kaise Kare

जब भी कभी शरीर का तापमान सामान्य तापमान से बढ़ जाए तो आपको समझना चाहिए की आपको बुखार (Fever) है। बुखार संक्रमण के खिलाफ शरीर की एक सुरक्षात्मक प्रक्रिया का हिस्सा है। सामान्यत: इंसान के शरीर का तापमान 37° सेल्सियस या 98.6° फारेनहाइट होता है। बुखार खुद कोई बीमारी नहीं है बल्कि एक लक्षण है जो यह दर्शाती है कि शरीर किसी संक्रमण (इंफेक्सन) से ग्रस्त है। दूसरे शब्दों में यह रोग प्रतिरक्षा प्रणाली द्वारा किसी सक्रमण से लड़ने का लक्षण है। लेकिन यदि बुखार का तापमान 40° सेल्सियस या 104° फारेनहाइट से ज्यादा हो जाये तो यह काफी खतरनाक हो सकता है।

बुखार मे सबसे ज़्यादा पाए जाना वाला बुखार टाइफाइड हैं टाइफाइड को हिन्दी मे मियादी बुखार या मोतीझरा के नाम से जाना जाता हैं। टाइफाइड सॅल्मोनेला नामक बॅक्टीरिया के कारण होता हैं बुखार हमारे खाने-पीने के तरीके और रहण-सहन के तरीके के वजह से होता है। मौसम का बदलाव भी इसका एक कारण हैं वैसे सामान्य तौर पर होने वाले बुखार घरेलू उपचार करने से ही ठीक हो जाते हैं। तो चलिए कुछ घरेलू नुस्खे आपको बताते हैं।

बुखार के लक्षण :- 

  1. सिर मे दर्द होना।
  2. गले, खरास होना, भूख कम लगना।
  3. ठंडा लगाना और पसीना आना।
  4. पेट मे दर्द उल्टी और दस्त।
  5. शरीर मे थकान लगना।

बुखार ठीक करने का घरेलू उपचार :-

  • हल्दी का प्रयोग करें : हल्दी बहुत ही उपयोगी औषधि है। इसमे जो रसायन होते हैं वो वाइरस, बॅक्टीरिया और फूनगुस के प्रतिरोधी होते हैं तथा हमारे शरीर के प्रतिरक्षण तन्त्र को मजबूत रखते हैं। बुखार आने पर 1 कप दूध में आधा चमच हल्दी पाउडर और चौथाई चम्मच काली मिर्च पाउडर डालें. अब इस दूध को पी जाएँ. ऐसा दिन में दो बार करें. आप का बुखार उतार जाएगा।
  • लहसुन का प्रयोग करें: बुखार आने पर लहसुन का सेवन करने से पसीना आकर बुखार उतर जाता है। लहसुन के सेवन से हमारे शरीर से ज़हरीले तत्व भी बाहर हो जाते हैं। लहसुन की एक काली लें और उसके बारीक टुकड़े कर लें. इन्हे एक कप गरम पानी में डाल दें. अब इसे धीरे-धीरे हिलाएँ और एक चम्मच से इस मिश्रण को धीरे-धीरे पिए। आप अपने आपको दूसरे दिन स्वस्थ महसूस करने लगेंगे। इसके अलावा 5 से 10 कालिया लहसुन के पीस कर घी या टीलो के तेल मे तले और सेंधा नमक डाल कर सेवन करे।
  • अदरक का प्रयोग करें: अदरक भी शरीर से बुखारे उतारने मे मदद करता हैं क्यूंकी अदरक हमारे शरीर की गर्मी को बाहर निकलता है। इसलिए अदरक के सेवन से भी बुखार उतर जाता है। एक चम्मच आद्रक का रस लें, दो चम्मकाः निम्बो का रस लें और दो चम्मच ही शहद लें. इन्हे अच्छी तरह मिला लें. अब इस मिश्रण को दिन में 3 से 4 बार लें. ऐसा करने से शरीर का बुखार उतार जाता है। इसके अलावा अदरक को पुदीने के साथ भी सेवन करने से बुखार छूटता हैं।
  • तुलसी का प्रयोग करें: जैसा की तुलसी हर मर्ज की दावा हैं बुखार कम करने के लिए तुलसी एक बहुत ही उपयोगी औषधि के रूप में प्रयुक्त होती है। बुखार आने पर लगभग 10 तुलसी की पत्तियाँ और आधा चम्मच कसा हुआ अदरक आधे कप पानी में डालें. इस मिश्रण को तब तक उबालें जब तक की यह आधा नहीं हो जाता है। अब इसमे कुछ मात्रा में शहद लें और इस मिश्रण को दिन में 4 से 5 बार तक लें. ऐसा करने से आपका बुखार जल्दी ही उतार जाएगा।
  • लेमनग्रास का प्रयोग करें: लेमनग्रास की 6 जड़ें लेकर उसके हरे हिस्से को काट कर अलग कर दें और उसके सफ़ेद हिस्से यानी जड़ वाले हिस्से को कूट ले। फिर इस पांच कप पानी मिलकर मध्यम आंच पर लगभग 5 मिनट तक उबाल ले। फिर इसे आंच से उतारकर किसी बर्तन में रख लेवें और लगभग 4 मिनट तक गुनगुना होने दें फिर आराम से पियें।
  • किशमिश का जूस भी बना सकते हैं: इसको बनाने का तरीका थोडा अलग है। इसे बनाने के लिए तीन चौथाई कप (115 ग्राम) किशमिश को साढ़े सात कप (1.75 लीटर) पानी में मिलकर उबाल लेवें फिर ठंडा होने दें के बाद छान लेवें. इस जूस को दिन में 5-6 बार पियें।
  • सेब का पानी बनाकर पियें: एक मध्यम आकार के सेब को डेढ़ कप पानी (350 मि.ली.) में तब तक उबालें जब तक सेब मुलायम न हो जाये। इसके बाद घोल को छान ले और स्वादानुसार शहद मिलाकर पियें।
  • एक छोटा चम्मच ओरेगानों और एक छोटा चम्मच मार्जोरम को आधे लीटर (500 मि.ली.) पानी में मिलकर धीमे आंच पर 2-3 मिनट तक रखें। इसके बाद इसे ठंडा होने देवें और इसे पिए. यदि आप चाहें तो इस घोल को थोडा ज्यादा मात्रा में बनाकर फ्रिज में रख सकते हैं और जैसा आवश्यक हो वैसा सेवन करें।

बुखार होने पे क्या करे और क्या ना करे :-

 हमेशा अपनी नाक साफ़ रखें।

 ज़्यादा वर्क ना करे अपने शरीर को आराम दें।

 ऐसा भोजन करे जो आसानी से पच जाए।

 पानी पीने मे कोताही ना करे : खूब पानी पिए, शरीर मे पानी कमी ना होने दे।

 घर मे रहने का कोशिश करे, ज़्यादा बाहर ना जाए।

 बुखार होने पर ठन्डे पानी का स्नान करने से काफी राहत मिलती है, इसलिए ठन्डे पानी से स्नान करें।

 अगर बुखार में स्नान करना अच्छा नहीं लगता तो भीगे कपड़े से बदन को पोछे। इसके लिए किसी साफ़ कपड़े या तौलिया को लेकर उसे ठन्डे पानी से गीला करके निचोड़ लें फिर उससे बदन पोछें और ऐसा कई बार करें। ऐसा करने से शरीर का तापमान कम करने में काफी मदद मिलती है। भीगे कपड़े की पट्टी माथे पर रखना भी बुखार में फायदा पहुंचाता है।

 ठंडक देने वाले पदार्थों का इस्तेमाल करें: अपने शरीर को बाहर से ठंडा करने के साथ-साथ उसे अन्दर से भी ठंडक पहुँचाना तापमान को कम कर बुखार में राहत देता है. दही, फल एवं फलों का रस बहुत लाभकारी होता है. कभी-कभी बर्फ की चुस्की भी फायदा पहुंचाती है।

 ज्यादा कपड़े न पहने।

परहेज :-

चाय, कोफ़ी, कोल्ड ड्रिंक, मसालेदार फुड, ड्रिंक, स्मोकिंग, और जंक फुड खाने और पीने से बचे,

>>>>>  कृपया ध्यान दे अगर आपका बुखार ज़्यादा दिन हो जाएऔर फिर भी ना छूटे, तो कृपया कोई अच्छे चिकित्सक से मिले। और उपर दी गयी जानकारी का इस्तेमाल आपके विवेक पर निर्भर हैं। किसी प्रकार की कोई परेशानी होने पर साइट की ज़िम्मेवारी नही रहेगी।

इसे भी जाने :-

Please Note : – Cure a Fever at Home Tips In Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे करे. How To Break Fever Tips In Hindi व नयी पोस्ट डाइरेक्ट ईमेल मे पाने के लिए Free Email Subscribe करे, धन्यवाद।

loading...

LEAVE A REPLY